श्रवण विकलांग बच्चों में कॉक्लिअर इम्प्लान्टस का प्रभाव

श्रवण विकलांगता का बच्चे और उसके परिवार पर महत्वपूर्ण प्रभाव पडता है । जीवन के हरेक पहलु पर उसका प्रभाव पडता है । जिसमें बौध्दिक, संप्रेषण, मनोवैज्ञानिक, शैक्षणिक एवं व्यक्तिमत्व विकास और उसी तरह पारिवारिक आर्थिक स्थिति भी शामिल है । श्रवण विकलांगता के व्यापक प्रभाव को ध्यान में रखकर शिक्षा ग्रहण करने के महत्वपूर्ण वर्षों के दौरान शीघ्र पहचान एवं शीघ्र हस्तक्षेपन का बच्चे के समग्र विकास पर श्रवण विकलांगता के प्रभाव को कम कराता है ।


श्रवण प्रौद्योगिकी में अद्यतन संशोधन जिसमें कॉक्लिअर इम्प्लान्ट शामिल है, इसमें तीव्र से अति तीव्र श्रवण दोष वाले बच्चे बोली भाषा के अधिकतम आवाजों को प्राप्त करते है । अधिकतम बच्चे जो श्रवण दोष या हार्ड ऑफ हिअरिंग के जन्म के साथ लिए हुए है वे अपनी स्वयं की आवाजों को सुनना, दूसरों की आवाजों को सुनना एवं जीवन के विभिन्न ध्वनियों को सुनना सीख सकते है ।


युवा बच्चों में कॉक्लिअर इम्प्लान्ट के प्रभाव के बारे में जानना महत्वपूर्ण है जैसे कि उच्च लागत, सर्जरी एवं परिवार की उच्च स्तरीय अपेक्षाएं शामिल है । श्रवण दोष आरंभ की उम्र, ‍इम्प्लान्टेशन की उम्र, कॉक्लिअर इम्प्लान्ट के अनुभवों की पर्याप्तता, एवं शैक्षणिक आदि घटकों पर कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन पश्चात बच्चे को प्राप्त होने वाले समग्र लाभ निर्धारित किए जाते है । बच्चों के जीवन पर कॉक्लिअर इम्प्लान्ट के इम्प्लान्टेशन के पश्चात होनेवाले विभिन्न प्रभावों की निम्न सेक्शन में मुख्य विशेषताएं दी गयी है ।

ऑडिटरी स्किल्स - कॉक्लिअर इम्प्लान्ट वाले बच्चों की कार्य उपलब्धि/निष्पादन, इम्प्लान्ट किए हुए समवयस्कों से अधिक है, जो दूसरे सेन्सरी यंत्र जैसे पारंपारिक श्रवण यंत्र एवं वाइब्रोटॅक्टिल एड्स का इस्तेमाल करते है । शुध्द रुप से ऑडियोलॉजिकल निष्पादन संबंधी श्रवण सुधार उल्लेखनीय है । खुले रुप में शब्द पहचानने में ऑडियोलॉजिकल टेस्ट जिसमें एकाक्षरी शब्द एवं वाक्य परीक्षा शामिल है में उल्लेखनीय प्रगति, कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन के रोपण के पश्चात दिखाई देती है । सुधारित श्रवण कौशलों से वाचा एवं भाषा अर्जन के अवसरों में बढ़ोतरी हुई है ।

वाचा एवं भाषा कॉक्लिअर इम्प्लान्ट वाले बच्चे अक्सर वाचा, भाषा एवं पठन/वाचन कौशल उनके समकक्ष बच्चों के समान ही ग्रहण करते है । स्पीच प्रॉडक्शन स्किल्स में वृध्दि एवं भाषा पूर्व श्रवण विकलांगता वाले बच्चों में समग्र वाचा/स्पीच बोधगम्यता में सुधार अध्ययन द्वारा देखा गया है । इन बच्चों में मौखिक भाषा अर्जन करने की संभावना अधिक होती है । एक समान श्रवण दोष होनेवाले बच्चों में श्रवण यंत्र का प्रयोग करनेवाले बच्चों से कॉक्लिअर इम्प्लान्ट किए गए बच्चे अधिक शीघ्रता से भाषा विकास करते है । सुधारित वाचा एवं भाषा कुशलता से शैक्षणिक विकास सुविधाजनक होता है क्योंकि दोनों एक दूसरे से पूरक है ।

शैक्षणिक विकास – सुधारित भाषा कुशलताओ के साथ प्राथमिक शिक्षा में उन्नत ठहराव और एकीकरण हो गया है जो बृहत स्कॉलिस्टिक कार्य-निष्पादन की ओर बढ़ सकता है । इसमें सामाजिक बहुमुखी प्रतिभा एवं माध्यमिक शिक्षा के लिए सफलतापूर्वक अंतरण की स्वीकृति मजबूत करता है अति तीव्र श्रवण दोष वाले बच्चों में साक्षरता के विकास के साथ प्राथमिक घटक जुडे हुए होते है,जो मौखिक रुप से शिक्षित है वें शेष श्रवण शक्ति, शीघ्र प्रवर्धन एवं शैक्षिक प्रबंधन का बहुत अच्छी तरह उपयोग करते है, कॉक्लिअर इम्प्लान्ट वाले बच्चों की सामान्य स्कूल में समाकलन के लिए अधिक संभावना है । श्रवण यंत्र का इस्तेमाल करने वाले बच्चों की तुलना में कॉक्लिअर इम्प्लान्ट करने वाले अच्छे अक्सर वाचन/पठन अच्छा करते है । प्रगत शैक्षिक योग्यता और आगे की शिक्षा एवं रोजगार में अधिक से अधिक अवसर प्रदान करती है ।

मनो-सामाजिक -कॉक्लिअर इम्प्लान्ट व्यक्तियों के लिए वयस्कता में उच्च शिक्षा एवं रोजगार क्षमता की अधिकतर संभावनाओं की वजह से सामाजिक स्वतंत्रता एवं जीवन की गुणवत्ता में वृध्दि होती है । यहां तक कि प्री-स्कूल से बच्चों ने कॉक्लिअर इम्प्लान्ट का उपयोग करके सामान्य सुननेवाले बालकों के समान जीवन की समग्र गुणवत्तापूर्ण साधनों/पर्याप्तताओं को प्राप्त कर सकते हैं ।

कॉक्लिअर इम्प्लान्ट के उपयोग के छह साल तक प्रयोग करने से उच्च संतुष्टि बेहतर स्तर का जीवनमान संकेत एवं आत्मसम्मान, उसी तरह उपलब्धियों में औसतन से अधिक स्कोर, शैक्षिक क्षेत्र और सहकर्मी सहसंबंधों में सफलता का प्रदर्शन अच्छी तरह से किया जा रहा है। कुल मिलाकर कॉक्लिअर इम्प्लान्ट वाले बच्चे सामान्य सुनने वाले बच्चों की तुलना में कम स्वस्थ दिखायी नहीं देते है । जीवन की गुणवत्ता में वृध्दि हुई है जबकि इम्प्लान्टेशन के इस्तेमाल की अवधि बढ़ाने पर इसमें वृध्दि होती है । माता-पिता को कॉक्लिअर इम्प्लान्ट का सकारात्मक प्रभाव आत्मनिर्भरता, संप्रेषण, सामान्य कामकाज एवं सामाजिक सहसंबंधों पर विशेषतः उनके बच्चों पर असर महसूस होता है।

इस तरह तीव्र से अति तीव्र श्रवण दोष वाले बालकों के लिए कॉक्लिअर इम्प्लान्ट रामबाण की तरह कार्य कर सकता है एवं इस आबादी में वाचा, भाषा, साक्षरता कौशल उसी तरह सामाजिक कौशलों के विकास के लिए उत्प्रेरक के रुप में कार्य कर सकता है । भारत में बच्चों में कॉक्लिअर इम्प्लान्ट के प्रभाव संबंधी अध्ययन करने की आवश्यकता है जैसे कि भारत में पहले ही दस हजार इम्प्लान्टेशन किए गए है और इस अध्ययन से हमें कॉक्लिअर इम्प्लान्ट की प्रभाविता के विश्लेषण की जानकारी प्राप्त होगी एवं जिससे हमें लोगों के बीच जनजागरुकता निर्माण करने में उसी तरह नीति के नियमन/सूत्रीकरण के लिए मदद होगी ।

संदर्भः

  • वॉरेन इस्ट्राबुक्स, 2000.टॉक एण्ड सिंग साँग्ज फॉर हिअरिंग इम्पेअर्ड चिल्ड्रेन
  • मियामोटो, आर टी रॉबिन्स, ए.एम., ऑसबेरजर, एम.जे. रोड, एस.एल.(1995). कम्पॅरिजन ऑफ टॅक्टिल एड्स एण्ड कॉक्लिअर इम्प्लान्टस इन चिल्ड्रेन विद प्रोफाउण्ड हिअरिंग इम्पेअरमेन्टस्. ए.एम जे ओटोल,16:8-13.
  • फेट्टरमैन बीएल, डेमिको इएच., 2002 स्पीच रिकॉगनिशन इन बैंकग्राऊण्ड नॉइसेस ऑफ कॉक्लिअर इम्प्लान्ट पेशन्टस ओटो लैरिंगोल हेड नेक सर्जरी, 126 (3) : 257-63
  • टोम्ब्लिन, जे वी, बारकर, बी ए, स्पेन्सर, एल जे इटीएएल., 2005. दि इफेक्टस ऑफ एज अ‍ॅट कॉक्लिअर इम्प्लान्ट इनिशियल स्टिम्युलेशन ऑन एक्सप्रेसीव लैंग्वेज ग्रोथ इन इनफन्टस एण्ड टोडलर्स. जे स्पीच लैंग्वेज हिअरिंग रिहैबिलिटेशन 48(4):853-67.
  • ऑसबरजर, एम.जे., रॉबिन्स, ए.एम., टोड, एस.एल., मियामोटो, आर.टी.(1993). स्पीच प्रॉडक्शन स्किल्स ऑफ चिल्ड्रेन विद् मल्टिचैनल कॉक्लिअर इम्प्लान्टस,. एडवान्सेस इन कॉक्लिअर इम्प्लान्टस (पीपी 503-508). मंझ, विएन्ना डाटेनकोनवरटाइरंग रिप्रोडक्शन एण्ड ड्रक.
  • गीर्स एइ. स्पीच, लैंग्वेज एण्ड रिडींग स्किल्स आफ्टर अर्ली कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन, 2004. आर्क ऑटोलैरिंगगोल हेड नेक सर्जरी,130(5) :634-8
  • स्वर्स्की, एम., रॉबिन्स, ए., आइलर-किर्क, के., पैसोनी, डी., एण्ड मियामोटो, आर.(2000). लैंग्वेज डिवलपमेन्ट ऑफ लिटरसी इन प्रोफाऊंडली हिअरिंग इम्पेअर्ड ‍अ‍ॅडोलसन्टस. वोल्टा रिव्यू, 91,64-85. दया एच, अ‍ॅशले ए, जिसिन सी, पेप्सीन बी सी.,2000. चेंन्जेस इन एज्युकेशनल प्लेसमेन्ट एण्ड स्पीच परसेप्शनप एबिलिटी आफ्टर कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन इन चिल्ड्रेन. जे ओटोरिंगोल, 29 (4):224-8.
  • एड्रीया डी. वॉरनर सीझिझ, बेट्टी लॉय, पीटर एस. रोलाण्ड, 2009. पैरेन्ट वर्सस चाइल्ड असेसमेन्ट ऑफ क्वालिटी ऑफ लाइफ इन चिल्ड्रेन यूजिंग कॉक्लिअर इम्प्लान्टस. पेडियाट्री ओटोलैरिंगोल. 73(10):1423-1429
  • रचेल एल. मेसेरोल, ख्रिस्टिन एम. कर्सन, अ‍ॅन डब्ल्यू. रिले इटी एल, 2013. असेसमेन्ट ऑफ हेल्थ –रिलेटेड क्वालिटी ऑफ लाइफ 6 इयर्स आफ्टर चाइल्ड हूड कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन. क्वेल लाइफ रेसि (Res) डीओआइ 10.1007/एस 11136-013-0509-3.
  • के. हुटुनेन, एस रीम मैनेन, एस वीकमन इटी एएल.2009 पैरेन्टस् न्यूज ऑन दि क्वालिटी ऑफ लाइफ ऑफ देअर चिल्ड्रेन 2-3 इयर्स आफ्टर कॉक्लिअर इम्प्लान्टेशन. इन्टरनेशनल जर्नल ऑफ पेडिएट्रिक ओटोलेरिंगोलॉजी.73,1786-1794
‘ योगदान : मोहम्मद नूरेन आलम, क्लीनिकल असिस्टंट (स्पीच एण्ड हिअरिंग) कम्पोजिट रिजनल सेन्टर, अहमदाबाद. ई-मेल - noorain.aslp@gmail.com